नड्डा से मिले उत्तराखंड के सीएम रावत, राज्य में जल्द होगा मंत्रिमंडल विस्तार!
Friday, 21 February 2020 22:21

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को देहरादून से पहुंचकर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भेंट की। मुख्यमंत्री रावत ने मंत्रिमंडल में खाली चल रहे तीन पदों को भरने पर नड्डा से बात की। इस दौरान तीनों पदों के लिए दावेदार चेहरों पर भी उनके बीच चर्चा हुई। पार्टी सूत्रों का कहना है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से हरी झंडी मिलने के बाद उत्तराखंड में काफी समय से लटका मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है।

दरअसल, उत्तराखंड में कुल 12 मंत्री हो सकते हैं। फिलहाल त्रिवेंद्र सिंह रावत की मंत्रिपरिषद में नौ ही सदस्य हैं। पिछले साल जून में वित्त मंत्री रहे प्रकाश पंत का बीमारी के कारण निधन हो गया था, जबकि दो पद पहले से खाली चल रहे हैं। इस प्रकार कुल तीन नए चेहरे मंत्रिमंडल में शामिल हो सकते हैं।

त्रिवेंद्र सिंह रावत के करीबियों का कहना है कि मंत्रिपरिषद के विस्तार के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की सहमति लेने के लिए ही शुक्रवार को वह एक दिन के लिए दिल्ली पहुंचे। संभावित मंत्रिपरिषद विस्तार में फेरबदल होने पर कुछ चेहरों को संगठन में भेजा जा सकता है और कुछ नए चेहरों को सरकार में शामिल किया जा सकता है।

सूत्रों का कहना है कि जेपी नड्डा के सामने तीन पदों के लिए त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कुछ नाम भी प्रस्तावित किए। हालांकि इस बात का खुलासा नहीं हो सका है कि रावत किन तीन चेहरों को मंत्रिमंडल में लाना चाहते हैं। पार्टी सूत्रों का कहना है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कैबिनेट विस्तार के लिए हरी झंडी दे दी है।

व्यवहार को लेकर शिकायत

उत्तराखंड में भाजपा की ओर से रावत की जगह किसी और चेहरे को मुख्यमंत्री की कमान देने की अटकलों का दौर चल रहा है। पिछले हफ्ते भर से ऐसी खबरें स्थानीय हलकों में खूब उठीं। दो दिन पहले देहरादून के सियासी गलियारे में चर्चा रही कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने त्रिवेंद्र सिंह रावत को तलब किया है। ऐसे में जब शुक्रवार को सचमुच रावत नड्डा से मिलने पहुंचे तो कयासों का दौर तेज हो गया।

सूत्रों का यह भी कहना है कि उत्तराखंड के कुछ स्थानीय नेताओं ने दिल्ली तक रावत के व्यवहार की शिकायत की है। कहा जा रहा है कि झारखंड में जिस तरह से रघुवर की कार्यशैली को लेकर स्थानीय संगठन में नाराजगी रही, उसी तरह से उत्तराखंड में भी माहौल बन रहा है। हालांकि आईएएनएस ने सूत्रों से पता किया तो बताया गया है कि जेपी नड्डा से त्रिवेंद्र सिंह रावत की यह मीटिंग मंत्रिमंडल विस्तार पर चर्चा को लेकर ही थी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत नेतृत्व परिवर्तन की खबरों को पहले ही अफवाह करार दे चुके हैं।

-- आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss